Web 3.0 क्या है? ये कैसे अभी के इंटरनेट से अलग है? – हिंदी में

Web 3.0 यानी decentralized web यानी इस संस्करण में वेबसाइट के फीचर के ऊपर कोई भी बात को डिसाइड नहीं किया जाएगा बल्कि इसका मेजर एलिमेंट होगा डिसेंट्रलाइजेशन।

web-3.0-kya-hai-in-hindi, web 3.0 hindi, web 2.0,web,internet,Cryptocurrency, blockchain

इस डिसेंट्रलाइजेशन को यनी Web 3.0 को blockchain technology पावर देगा, और यही टेक्नोलॉजी Cryptocurrency में भी इस्तेमाल किया जाता है।

Blockchain technology में कोई भी डाटा किसी एक कंप्यूटर या सर्वर पर नहीं होता है बल्कि दुनिया भर के सभी कंप्यूटर पर थोड़ा-थोड़ा होता है इसी वजह से इसे हैकर को हैक कर पाना नामुमकिन हो जाएगा।

Web 2.0 मे इंटरनेट हर तरफ से बंधा हुआ है लेकिन Web 3.0 में ये पूरी तरह से ओपन हो जाएगा और साथ ही सिक्योर भी हो जाएगा यानी किसी हैकर को कोई डेटा को हैक करना नामुमकिन सा हो जाएगा।

सन 2010 के दशक के बाद से ही वेब का तीसरा वर्जन Web 3.0 का विकास शुरू हो गया था और ये Web 2.0 से कई कदम आगे रहेगा। यह नया संस्करण पूरी तरह से खुला रहेगा और यहां पर हमारी वेब सिक्योरिटी पूरी तरह से सेक्युर रहेगी।

Web 3.0 इंटरनेट का भविष्य क्यों है?

टिम बर्नर्स-ली ने Web 3.0 को सिमेंटिक Web सिस्टम के रूप में माना जो स्व-शासी, बुद्धिमान और खुले इंटरनेट के रूप में कार्य करेगा।

Web 3.0 एक एन्क्रिप्टेड प्रारूप में डेटा एकत्र करके और उन्हें विकेंद्रीकृत तरीके से व्यवस्थित करके अत्याधुनिक गोपनीयता प्रदान करता है। यह इंटरनेट को सभी के लिए खुला और अभी भी निजी तौर पर सुलभ बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण छलांग साबित होता है।

Web 3.0 Web को विकेंद्रीकृत करने और उपयोगकर्ताओं को शक्ति वापस करने के लिए सर्वव्यापकता, Semantic Web, Artificial Intelligence, Big Data और BLOCKCHAIN का एक पागल समामेलन है।

सटीक होने के लिए, Web 3.0 आभासी दुनिया में एक वास्तविक लोकतंत्र स्थापित कर रहा है।

इंटरनेट के साथ भविष्य की बातचीत अभी भी अप्रत्याशित है क्योंकि यह जबरदस्त शक्ति और व्यावहारिक उपयोग का संकेत देता है जो समय के साथ काफी विकसित होगा।

Web 3.0 कब आएगा?

Web 3.0 आ चुका है और आप इस संस्करण के अंतर्गत TLD Domain को खरीद सकते हैं इस तरह के Domain किसी रजिस्ट्रार के पास नहीं होता है इनका रिकॉर्ड ब्लॉकचेन में होता है।

TLD Domain को आप Blog या Website के साथ और भी कई तरह से यूज़ कर पाएंगे जैसे अपना सोशल मीडिया प्रोफाइल के यूजरनेम में इस्तेमाल कर सकते हैं या इसे आप अपना बिटकॉइन एड्रेस भी बना सकते हैं इसके अलावा भी कई तरह से इस तरह के domain का इस्तेमाल आप कर सकते हैं।

TLD Domain का सभी जानकारी Blockchain पर लिखा होता है और इसी वजह से इस डोमेन के खरीदने वाले का कोई भी अता पता ढूंढ पाना नामुमकिन होता है और इसलिए इसे कोई हैक नहीं कर पाएगा।

निष्कर्ष

व्यक्तिगत डेटा से समझौता किए बिना नया Internet अधिक निजी होगा। वितरित नेटवर्क केंद्रीकृत भंडारण प्रणालियों की जगह लेंगे और Web समुदाय द्वारा नियंत्रित और संचालित होंगे। विकेन्द्रीकृत अनुप्रयोगों (डीएपी) का उपयोग बढ़ेगा क्योंकि वे डेटा पर अधिक नियंत्रण प्रदान करेंगे। खोज सहायक अपग्रेड करेंगे और बातचीत करने के लिए नए सबसे अच्छे दोस्त बनेंगे। Web 3.0 समानता के साथ समानता लाएगा ताकि सभी को लाइन में मदद की जा सके और दुनिया को एक बेहतर जगह बनाया जा सके। नवाचार जीवन को आसान, पर्यावरण के अनुकूल और शायद मनोरंजक भी बना देंगे। हमें बस इतना करना है, प्रतीक्षा करें और देखें कि 21वीं सदी में Web 3.0 क्या प्रदान करता है?

हमें इंटरनेट के भविष्य के बारे में अपने विचार बताएं।

अपने सुझावों पर टिप्पणी करें, और आइए नए विचारों के साथ बातचीत करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ